खांसी के प्राकृतिक एवं घरेलू उपचार। khansi ke gharelu upay

सर्दी जुखाम के घरेलू उपाय। Jukam Ke Gharelu Upay

  •  
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
    1
    Share

सर्दी जुखाम के घरेलू उपाय।

मौसम बदल रहा है दोस्तों इस बदलते हुए मौसम में सर्दी (Sardi) जुकाम एलर्जी होना आम बात है और जैसा कि आप सब जानते हैं, पिछले 9 महीनों से कोरोनावायरस की मार से काफी ज्यादा लोग सर्दी ख़ासी जुखाम से प्रभावित हुए हैं आइए जानते हैं सर्दी जुखाम से बचने के लिए कुछ घरेलू उपाय।

मौसम बदलते समय या फिर दूषित वायु मंडल, धूल तथा धुएं वाले स्थान आदि में भी जुकाम हो जाता है। कब्ज की हालत में नंगे पैर चलने, गर्म स्थान से उठकर ठंडे स्थान में जाने गर्म स्थान में काम करते-करते ठंडा पानी पी लेने वर्षा में भीगने, व्यायाम करने के बाद स्नान कर लेने आदि कारणों से भी जुकाम हो जाता है।

इसमें नाक से पानी बहने लगता है, आने लगती हैं और फिर तथा शरीर भारी हो जाता है आंखें लाल हो जाती हैं और गले में खराश में पड़ जाती हैं, एक-दो दिन तक लगातार नाक से निकलने वाले श्लेष्मा गले के नीचे उतारकर कफ बन जाता है, खांसी की भी शिकायत हो जाती है और हल्का बुखार भी आ जाता है।

जुखाम, नाक बंद के कुछ प्राकृतिक घरेलू उपचार के बारे में आज हम बात करेंगे

  1. दोस्तों अदरक काली मिर्च तुलसी तथा लॉन्ग का काढ़ा बनाकर पीने से जुकाम बहकर निकल जाता है, एक कप पानी में 5 से 6 पत्तियां तुलसी की काली मिर्च के दाने एक छोटी गांठ अदरक, को कूटकर तथा उसमें दो लॉन्ग उबालकर पानी का जब चौथाई का बचा रह जाए तो उसे धीरे-धीरे पीना चाहिए।
  2. एक गिलास पानी में एक नींबू का रस छोड़ कर उसे गुनगुना करके पिए इससे आपके सर्दी में आपको काफी ज्यादा आराम मिलेगा।
  3. एक कप पानी में एक चम्मच अजवाइन डालकर वाले इसमें गुड़ डालकर आपकी सर्दी चली जाएगी।
  4. 5 ग्राम दालचीनी और 5 ग्राम जायफल का चूर्ण बनाकर दोनों को सुबह-शाम शहद के साथ चांटे इसे सर्दी और नाक बंद की परेशानी समाप्त हो जाएगी।
  5. बार बार सर्दी व जुकाम होने पर ढाई सौ ग्राम दूध में चार खंड खजूर डाले इसमें चार काली मिर्च एक बड़ी इलायची तथा 2 लॉन्ग का चूर्ण भी डालकर काढ़ा बनाएं थोड़ा जल जाए तो उसे उतार कर उसमें एक चम्मच शुद्ध देसी घी डालें इस कार्य को धीरे धीरे चबाते हुए सेवन करें 3 दिन में सारा जुखाम निकल जाएगा और आपको अच्छा महसूस होगा।
  6. सर्दी जुकाम के साथ बंद में आप को हल्का बुखार भी हो गया हो तो 100 ग्राम गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद एक चम्मच अदरक का रस और एक चुटकी खाने वाला सोडा डालकर पी लें इससे आपको काफी फायदा मिलेगा
  7. हींग का पानी घोलकर उसका भाप लेने से या फिर सुनने से रोगी को काफी ज्यादा आराम मिलता है

सर्दी जुकाम और नाक बंद के कुछ आयुर्वेदिक उपचार

  • सबसे पहले लाल इलायची, काली मिर्च, सोंठ, तुलसी के बीज और जीरा सबको बराबर की मात्रा में लेकर चूर्ण बना लें इसमें से एक चम्मच चूर्ण सुबह और एक चम्मच शाम को सेवन करें इससे आपके शरीर जुकाम व नाक बंद की समस्या दूर हो जाएगी।
  • तुलसी, मुलेठी , काली मिर्च अदरक लाल इलायची, इन सब को पानी में पकाकर काढ़ा बना लें फिर इसे छानकर चाय के साथ पी ले।
  • तीसरा और आखिरी दोस्तों सोंठ काली मिर्च पीपल, चित्रक, तालीम पत्र, चक जीरा, इलायची दालचीनी, तेजपत्ता को समान मात्रा में लेकर चूर्ण बना लें इसमें से एक चुटकी दिन में तीन बार सेवन करें।