Monday, July 4, 2022
HomeFinanceLatest RBI Monetary Policy: आरबीआई ने रेपो रेट में 50 बीपीएस की...

Latest RBI Monetary Policy: आरबीआई ने रेपो रेट में 50 बीपीएस की बढ़ोतरी की सभी लोन हो जायेंगे महंगे

Loans will be more expensive, EMI will also increase, RBI made changes

कर्ज और महंगा होगा इएमआई भी बढ़ेगी आरबीआई ने किए बदलाव

Latest RBI Monetary Policy – आरबीआई ने बढ़ रही महंगाई पर लगाम कसने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई रेपो रेट में 50 बेसिस प्वाइंट बढ़ा दी है जो की 4.40% से बढ़कर 4.90% हो गई है।

रेपो रेट में बढ़ोतरी से कर्ज लेना और महंगा हो जाएगा ओम, ऑटो और पर्सनल लोन की ईएमआई भी बढ़ जाएगी।

रेकरिंग पेमेंट Recurring Payment E-mandate कि सीमा बढ़ा दी गई है इसे बिना ओटीपी के अब ₹15000 तक का ऑटो डेबिट पेमेंट कर सकेंगे।

आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मॉनिटरी पॉलिसी की बैठक में महंगाई को देखते हुए रेपो रेट बढ़ाने की जानकारी दी थी, इससे पहले 4 मई को इसमें 0.40% की बढ़ोतरी की गई थी 35 दिनों में रेपो रेट को 90 पॉइंट बढ़ाया गया।

रेपो रेट बढ़ने का मतलब रिजर्व बैंक की तरफ से बैंकों को लोन महंगी दरों पर मिलेगा बैंक इस बढ़ोतरी को ग्राहकों तक ट्रांसफर करेंगे ऐसे में ग्राहक के लिए कर्ज लेने की दर ब्याज़ दरें महंगी हो जाएंगी इससे उन लोगों को फायदा होगा जो बैंक एफडी कराते हैं क्योंकि एफडी की दरें भी बढ़ जाएंगी और fixed deposit पर ज्यादा इंटरेस्ट मिलेगा।

आरबीआई ने क्यों लिया ऐसा फ़ैसला RBI ने कहा रूस यूक्रेन युद्ध से सप्लाई चेन पर पड़े प्रभाव के कारण महंगाई पर लगाम के लिए यह दरें बढ़ाई गई है साल में पहली बार महंगाई 7.79% पर पहुंच गई है।

Latest RBI Monetary Policy

RBI announce payment from credit cards to UPI, starting with Rupay cards

आरबीआई ने घोषणा करते हुए यह भी बताया कि यूपीआई से क्रेडिट कार्ड भी जुड़ेगे आरबीआई ने क्रेडिट कार्ड को यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस यूपीआई प्लेटफार्म से जोड़ने की अनुमति का प्रस्ताव दिया शुरुआत रूप शुरुआती Rupay Card यूपीआई से जोड़ा जाएगा यह उपयोगकर्ता को अतिरिक्त सुविधा प्रदान करेगा। डिजिटल पेमेंट का दायरा बढ़ाएगा जायेगा, फिलहाल यूपीआई उपयोगकर्ता के डेबिट कार्ड के माध्यम से किया जाता है जो की चालू खातों को जोड़कर लेन-देन की सुविधा प्रदान करता है।

Cooperative bank Give More Loan

सहकारी बैंक से अब ज्यादा लोन – आरबीआई गवर्नर ने कहा कि सहकारी बैंक अब व्यक्तिगत होम लोन के लिए ज्यादा उधार दे सकेंगे इससे आवास क्षेत्र में बेहतरीन प्रवाह सुनिश्चित होगा इसके लिए शहरी और ग्रामीण सहकारी बैंकों के व्यक्तिगत आवास ऋण की सीमा को संशोधित किया जाएगा शहरी सहकारी बैंकों को घर तक बैंक से जुड़ी सुविधाएं पहुंचाने की अनुमति भी दी जाएगी।

More Interest on Fixed Deposit FDs

Repo रेट से फिक्स्ड डिपॉजिट यानी की FD पर मिलेगा अधिक रिटर्न भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो रेट को 50 बेसिस प्वाइंट बढ़ा दिया है वैसे तो यह अधिकतर लोगों के लिए बुरी खबर ही लग रही है क्योंकि इसे तमाम तरह के लोन और उनकी यह EMI पहले से महंगी हो जाएगी, हालांकि एक अच्छी बात यह भी है कि निवेश करने वालों के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट की दरें भी बढ़ जाएंगी एफडी पर कितना रिटर्न मिलेगा यह इस पर निर्भर करेगी आपके बैंक में एफडी पर कितना ब्याज देता है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments