Friday, August 12, 2022
HomeTech NewsRight To Repair : कहीं भी ठीक करा सकेंगे गैजेट नहीं खत्म...

Right To Repair : कहीं भी ठीक करा सकेंगे गैजेट नहीं खत्म होगी वारंटी

Are you looking to repair electronic gadgets, mobile phones, automobiles, or consumer durables?

What is Right to Repair? Kya Hai

अगर आप भी अपने मोबाइल फोन लैपटॉप क्या ऑटोमोबाइल से परेशान है तो यह खबर आपके काम की है आए दिन ग्राहकों को अपने सामान इलेक्ट्रॉनिक गैजेट तथा कई सारे उपकरणों का रिपेयर कराने के लिए कंपनी के सर्विस सेंटर में जाके गुहार लगानी पड़ती है उसके बावजूद भी उनका काम समय पर और अच्छे ढंग से नहीं होता है इसको देखते हुए सरकार राइट टू रिपेयर कानून ला रही है उनसे काफी सारे फायदे होंगे इससे ग्राहकों का समय बचेगा पैसे की बचत होगी तथा बढ़ रही कचरे से भी देश को निजात मिलेगी।

जल्दी देश में सरकार Modi Government एक राइट टू रिपेयर कानून (Right to Repair) लाने जा रही है जिसके तहत ग्राहक यदि मोबाइल टेबलेट या लैपटॉप कार बाइक या ट्रैक्टर के साथ अन्य इलेक्ट्रॉनिक ऑटोमोबाइल और कृषि उपकरण खुद या किसी मैकेनिक से repair कराने मैं पर इन प्रोडक्ट की वारंटी पर कोई असर नहीं पड़ेगा, केंद्र सरकार एसी फ्रिज पंखा जैसे कंज्यूमर ड्यूरेबल गेजेट्स कार कंपनियों की मनमानी खत्म करने के लिए राइट टू रिपेयर कानून बना रही है इससे ग्राहकों को अपने उपकरण के लिए रिपेयर गारंटी वारंटी के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा।

Right

Benefits from Right to Repair

Right to Repair customer ko मोबाइल, कार की रिपेयरिंग कंपनी के सर्विस सेंटर पर ही करानी होती है बाहर से रिपेयरिंग कराने पर इनकी वारंटी खत्म हो जाती है लेकिन राइट टू रिपेयर कानून लागू होने पर ऐसा नहीं होगा मनुफैक्चरिंग कंपनियों को प्रोडक्ट की जानकारी ग्राहकों को देनी होगी जिससे वह कहीं भी गैजेट्स को रिपेयर करा सकेंगे।

सरकार राइट टू रिपेयर के लिए एक समिति का गठन किया है समिति ने मरम्मत के अधिकार के लिए जिन क्षेत्रों की पहचान की गई है उनमें खेती उपकरण मोबाइल फोन टेबलेट कंज्यूमर ड्यूरेबल ऑटोमोबाइल शामिल है सरकार इन उपकरणों का मरम्मत नहीं होने से लगातार बढ़ रहे ही कचरे तथा ewaste को रोकने के लिए कदम उठाया है साथ ही इसे लोग भी नया गैजेट खरीदने को मजबूर नहीं होंगे और उनके पैसे बचेंगे।

इन देशों में पहले से कानून बना हुआ है अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, यूरोपियन के कई देश में पहले से ही राइट टू रिपेयर का कानून है ग्राहक चाहे तो खुद मरम्मत का काम कर सकते हैं या किसी तीसरे पक्ष की एजेंसी से काम करा सकते हैं ऐसा करने पर उत्पाद की गारंटी वारंटी खत्म नहीं होगी।

  • एक सर्वे के मुताबिक 75% से ज्यादा ग्राहक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण गजट की मरम्मत कंपनी के सर्विस सेंटर पर नहीं कराते हैं।
  • 65% से ज्यादा लोग अधिक लागत के कारण निर्माता कंपनी से एयर कंडीशन की सर्विस नहीं कराते हैं।
  • 35% लोग जटिल संपर्क प्रक्रिया की वजह से निर्माता कंपनी से दूरी बनाते हैं।
  • 32% से ज्यादा लोग समय लगने की वजह से बाहर से ही मरम्मत करा लेते हैं।
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments